Wednesday, December 7, 2022
Home ब्लॉग देशभक्ति के पटाखे और जश्न का टशन

देशभक्ति के पटाखे और जश्न का टशन

सहीराम

सौ करोड़ टीके लगाने का जश्न दोबारा न हो पाया! अगर हमारी क्रिकेट टीम पाकिस्तान से मैच जीत जाती तो अंदाजा लगाइए कि कैसा रंग जमता। पटाखों पर चाहे कितना ही प्रतिबंध लगा होता, उनके फोडऩे से चाहे कितना ही प्रदूषण फैलता, फिर भी पटाखे अवश्य फूटते। वैसे भी पटाखे फोडऩा हमारे यहां अब देशभक्ति में शुमार होने लगा है। गलती से कोई नेता अगर पटाखे न फोडऩे का उपदेश दे दे तो उसकी शामत आ जाती है। उसे धर्मविरोधी तो करार दे ही दिया जाता है, देशद्रोही भी ठहरा दिया जाता है। बेचारे आमिर खान ने तो पटाखे न फोडऩे का एक विज्ञापन ही किया था कि देशभक्त उस कंपनी के मालिक तक शिकायत ले जाने से नहीं चूके।

तो प्रदूषण वगैरह के बावजूद पटाखे फोडऩा देशभक्ति का काम हो चुका है। इसलिए अगर हमारी क्रिकेट टीम जीत जाती तो पटाखे अवश्य ही फूटते। वे कम से कम इसलिए तो जरूर ही फोड़े जाते कि उनकी गूंज पाकिस्तान तक सुनायी दे। अभी तो आतंकवादियों की बंदूकों की आवाज ही वहां तक पहुंच रही है। अगर यह मैच जीत जाते कम से कम पटाखों की आवाज भी वहां तक पहुंच जाती। हिसाब बराबर मान लिया जाता। हमारे यहां पाकिस्तान तक आवाज पहुंचाने की बड़ी ललक रहती है। हमारे नेता तो चुनावी जीत की धमक भी वहां तक पहुंचाने के अरमान पाले रहते हैं।

खैर, हमारी टीम भले ही किसी से भी हार जाती। चाहे टिंबकटू से ही हार जाती। क्या हारते नहीं? वो तो भला हो एथलीटों का कि वे अब ओलंपिक में पदक लाने लगे हैं, वरना तो पहले हर खेल में हार ही हमारे हिस्से आती थी। पर क्रिकेट की हार की और बात है। सुना है कभी पहले पाकिस्तान के साथ हॉकी भी ऐसे ही खेली जाती थी। पाकिस्तान के साथ खेलना, हमारे यहां खेल नहीं माना जाता, युद्ध माना जाता है।
इस मामले में खेल भावना को कोई तवज्जो नहीं देता। खेल भावना गई तेल लेने! बताओ तुम हारे कैसे? फिर अब तो खैर ट्रोल आर्मी होने लगी है।

सोशल मीडिया ने और चाहे कुछ न दिया हो, पर गालियों के खजाने की चाबी ट्रोल सेना को जरूर दे दी है। लेकिन जब सोशल मीडिया नहीं होता था, तब भी तोहमत तो मोहम्मद शमी जैसों को ही झेलनी पड़ती थी।
तो जनाब हमारी क्रिकेट कम से कम देश में सौ करोड़ टीके लगने का जो जश्न मनाया जा रहा है, उसे दुगना करने के लिए ही जीत जाती। वैसे भी कितने साल बाद तो मैच हुआ था। आगे होता रहे, इसीलिए जीत जाना चाहिए था। अब तो पता नहीं कब पाकिस्तान से खेलना बंद हो जाए। अगर टीम जीत जाती तो हो सकता है उसे प्रधानमंत्री के साथ डिनर करने या चाय पार्टी करने का ही मौका मिल जाता।

RELATED ARTICLES

गुजरात चुनाव में भाजपा का चेहरा नरेन्द्र मोदी

अजय दीक्षित पहली दिसम्बर को गुजरात में पहले चरण का मतदान हुआ । उस दिन देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 70 किलोमीटर का एक...

गलत रास्ता, गलत नतीजा

ब्रेग्जिट के हक में वोट करने वाले हर पांच में से एक व्यक्ति को अब लगता है कि उसका फैसला गलत था। तो अब...

कैसे बनें भारत महान ?

अजय दीक्षित आज एक सवाल पूछिए खुद अपने आपसे  ।  कभी मानिए अलादीन का चिराग मिल जाये आपको, और सिर्फ एक ही वरदान मांगने की...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

CM धामी ने डी.आई.टी कॉलेज में आयोजित उच्च शिक्षा चिंतन शिविर के अंतर्गत राज्य स्तरीय नैक प्रत्यायन कार्यशाला एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम में किया प्रतिभाग

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को डी.आई.टी कॉलेज, देहरादून में आयोजित उच्च शिक्षा चिंतन शिविर के अंतर्गत राज्य स्तरीय नैक प्रत्यायन कार्यशाला...

कल जारी होंगे पुलिस कांस्टेबल भर्ती के एडमिट कार्ड

देहरादून। प्रदेश में पुलिस कांस्टेबल के 1521 पदों पर भर्ती की परीक्षा के लिए उत्तराखंड लोक सेवा आयोग आठ दिसंबर को एडमिट कार्ड जारी करेगा।...

उच्च शिक्षा विभाग में रिटायरमेंट के करीब तो अब नहीं बन सकेंगे निदेशक, जानिए वजह

देहरादून। उच्च शिक्षा विभाग में डॉ. ललित प्रसाद शर्मा मात्र 11 दिन और डॉ. गंगोत्री त्रिपाठी व डॉ. नारायण प्रकाश माहेश्वरी 30-30 दिन के...

24 दिसंबर को होंगे उत्‍तराखंड के डिग्री कॉलेजों में छात्रसंघ चुनाव

देहरादून। राज्य में छात्रसंघ चुनाव 24 दिसंबर को होंगे। कुमाऊं विवि, अल्मोड़ा विवि अन्य विवि के कुलपतियों की कमेटी की बैठक में यह निर्णय...

हिमाचल विधानसभा चुनाव: रिवाज बदलेगा या राज, कड़े मुकाबले के बीच होगा कल फैसला

हिमाचल। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के चुनावी नतीजे गुरुवार 8 दिसंबर को आएंगे। इसके लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दलों की धुकधुकी बढ़ गई है।...

चारधाम यात्रा में हेली सेवाओं के टिकटों की कालाबाजारी रोकने को लेकर CM धामी ने दिए सख्त निर्देश

देहरादून। चारधाम यात्रा में हेली सेवाओं के टिकटों की कालाबाजारी रोकने को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सख्त निर्देश दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों को...

फिर विवादों में एलन मस्क , इंसानी दिमाग में चिप लगाने वाली कंपनी के खिलाफ जांच शुरू

वॉशिंगटन।  ट्विटर के मालिक और अरबपति कारोबारी एलन मस्क मुसीबत में फंसते नजर आ रहे हैं। इंसानी दिमाग में चिप लगाने का दावा करने...

प्री-डायबिटीज से बचाव के लिए अपनाएं ये 5 तरीके

प्री-डायबिटीज का मतलब है कि आपके रक्त शर्करा का स्तर सामान्य से अधिक हो रहा है, जिसे समय रहते नियंत्रित करना महत्वपूर्ण है। अगर...

कांतारा में गाने वराह रूपम की हुई वापसी, बैन हटने के बाद दर्शकों ने जताई खुशी

ऋषभ शेट्टी की फिल्म कांतारा सिनेमाघरों में धमाल मचाने के बाद कुछ समय पहले ही ओटीटी पर रिलीज हुई है। हालांकि, दर्शक फिल्म में...

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के प्रस्तावित भ्रमण कार्यक्रम को लेकर दून पुलिस ने की सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था

देहरादून।  राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के आठ और नौ दिसंबर को प्रस्तावित भ्रमण कार्यक्रम के लिए दून पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की है। राष्ट्रपति...