Wednesday, December 7, 2022
Home उत्तराखंड भवन एवं अन्य सन्निर्माण बोर्ड उत्तराखंड में भ्रष्टाचार का मामला, हाईकोर्ट ने...

भवन एवं अन्य सन्निर्माण बोर्ड उत्तराखंड में भ्रष्टाचार का मामला, हाईकोर्ट ने तलब की जांच रिपोर्ट

नैनीताल। भवन एवं अन्य सन्निर्माण कल्याण बोर्ड उत्तराखंड में हुए भ्रष्टाचार के मामले में हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा कि मामले की जांच पूरी हुई या नहीं? अगर पूरी हो गई हो तो उसकी रिपोर्ट शुक्रवार को ही कोर्ट में पेश करें। कोर्ट ने मामले की सुनवाई के लिए तीन सितंबर की तिथि नियत की है। इस प्रकरण में सन्निर्माण कल्याण बोर्ड के चेयरमैन शमशेर सिंह सत्याल ने खुद को पक्षकार बनाए जाने के लिए प्रार्थनापत्र दिया है। उनका कहना है कि वह पूरे घोटाले से वाकिफ हैं, लेकिन उन्हें पक्षकार नहीं बनाया गया है।

वरिष्ठ न्यायमूर्ति मनोज कुमार तिवारी एवं न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ के समक्ष काशीपुर निवासी खुर्शीद अहमद की जनहित याचिका पर सुनवाई हुई। याचिका में कहा गया था कि वर्ष 2020 में भवन एवं सन्निर्माण कल्याण बोर्ड ने श्रमिकों को टूल किट, सिलाई मशीनें और साइकिलें देने के लिए विभिन्न समाचारपत्रों में विज्ञापन दिया था। आरोप है कि उक्त सामान की खरीद में बोर्ड के अधिकारियों ने वित्तीय अनियमितताएं की हैं।

जब इसकी शिकायत प्रशासन और राज्यपाल से की गई तो अक्तूबर 2020 में बोर्ड को भंग कर दिया गया। बोर्ड का नया चेयरमैन शमशेर सिंह सत्याल को नियुक्त किया गया। जब इस मामले की जांच चेयरमैन ने कराई तो घोटाले की पुष्टि हुई। याचिका में कहा गया कि मामले में श्रमायुक्त उत्तराखंड ने भी जांच की, जिसमें कई नेताओं और अधिकारियों के नाम सामने आए लेकिन सरकार ने उन्हें हटाकर नया जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया। याचिका में कहा गया कि नया जांच अधिकारी निष्पक्ष जांच नहीं कर रहा है। याचिकाकर्ता का कहना था कि मामले की जांच एक उच्च स्तरीय कमेटी गठित कर निष्पक्ष रूप से कराई जानी चाहिए।

इधर, बोर्ड चेयरमैन शमशेर सिंह सत्याल ने कोर्ट में प्रार्थनापत्र देकर कहा है कि वह बोर्ड के चेयरमैन हैं लेकिन उन्हें इस जनहित याचिका में पक्षकार ही नहीं बनाया गया है। वह पूरे घोटाले से वाकिफ हैं। उनका कहना था कि बोर्ड के सदस्यों ने कोटद्वार में ईएसआई हॉस्पिटल बनाने के लिए सरकार और कैबिनेट की मंजूरी के बिना ही ब्रिज एंड रूफ इंडिया लिमिटेड को 50 करोड़ का ठेका दे दिया। इतना ही नहीं, कंपनी को 20 करोड़ रुपये का अग्रिम भुगतान भी कर दिया गया, जबकि हकीकत यह है कि अभी तक हॉस्पिटल बनाने के लिए जमीन का चयन तक नहीं किया गया है।

इस भुगतान के लिए भी सरकार की अनुमति नहीं ली गई। सरकार ने 9 दिसंबर 2020 को इसकी जांच के लिए कमेटी गठित की। कमेटी से कहा गया कि कंपनी से 20 करोड़ रुपये वसूलकर उसे संबंधित खाते में जमा करवाएं। इस जांच कमेटी ने सरकार को अपनी रिपोर्ट 23 मार्च 2021 को सौंप दी थी। जांच में 20 करोड़ रुपये के लेनदेन में अनियमितता पाई गई। चेयरमैन का कहना था कि जब जांच पूरी हो चुकी है तो सरकार रिपोर्ट को सार्वजनिक क्यों नहीं कर रही है।

RELATED ARTICLES

CM धामी ने डी.आई.टी कॉलेज में आयोजित उच्च शिक्षा चिंतन शिविर के अंतर्गत राज्य स्तरीय नैक प्रत्यायन कार्यशाला एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम में किया प्रतिभाग

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को डी.आई.टी कॉलेज, देहरादून में आयोजित उच्च शिक्षा चिंतन शिविर के अंतर्गत राज्य स्तरीय नैक प्रत्यायन कार्यशाला...

कल जारी होंगे पुलिस कांस्टेबल भर्ती के एडमिट कार्ड

देहरादून। प्रदेश में पुलिस कांस्टेबल के 1521 पदों पर भर्ती की परीक्षा के लिए उत्तराखंड लोक सेवा आयोग आठ दिसंबर को एडमिट कार्ड जारी करेगा।...

उच्च शिक्षा विभाग में रिटायरमेंट के करीब तो अब नहीं बन सकेंगे निदेशक, जानिए वजह

देहरादून। उच्च शिक्षा विभाग में डॉ. ललित प्रसाद शर्मा मात्र 11 दिन और डॉ. गंगोत्री त्रिपाठी व डॉ. नारायण प्रकाश माहेश्वरी 30-30 दिन के...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

CM धामी ने डी.आई.टी कॉलेज में आयोजित उच्च शिक्षा चिंतन शिविर के अंतर्गत राज्य स्तरीय नैक प्रत्यायन कार्यशाला एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम में किया प्रतिभाग

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को डी.आई.टी कॉलेज, देहरादून में आयोजित उच्च शिक्षा चिंतन शिविर के अंतर्गत राज्य स्तरीय नैक प्रत्यायन कार्यशाला...

कल जारी होंगे पुलिस कांस्टेबल भर्ती के एडमिट कार्ड

देहरादून। प्रदेश में पुलिस कांस्टेबल के 1521 पदों पर भर्ती की परीक्षा के लिए उत्तराखंड लोक सेवा आयोग आठ दिसंबर को एडमिट कार्ड जारी करेगा।...

उच्च शिक्षा विभाग में रिटायरमेंट के करीब तो अब नहीं बन सकेंगे निदेशक, जानिए वजह

देहरादून। उच्च शिक्षा विभाग में डॉ. ललित प्रसाद शर्मा मात्र 11 दिन और डॉ. गंगोत्री त्रिपाठी व डॉ. नारायण प्रकाश माहेश्वरी 30-30 दिन के...

24 दिसंबर को होंगे उत्‍तराखंड के डिग्री कॉलेजों में छात्रसंघ चुनाव

देहरादून। राज्य में छात्रसंघ चुनाव 24 दिसंबर को होंगे। कुमाऊं विवि, अल्मोड़ा विवि अन्य विवि के कुलपतियों की कमेटी की बैठक में यह निर्णय...

हिमाचल विधानसभा चुनाव: रिवाज बदलेगा या राज, कड़े मुकाबले के बीच होगा कल फैसला

हिमाचल। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के चुनावी नतीजे गुरुवार 8 दिसंबर को आएंगे। इसके लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दलों की धुकधुकी बढ़ गई है।...

चारधाम यात्रा में हेली सेवाओं के टिकटों की कालाबाजारी रोकने को लेकर CM धामी ने दिए सख्त निर्देश

देहरादून। चारधाम यात्रा में हेली सेवाओं के टिकटों की कालाबाजारी रोकने को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सख्त निर्देश दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों को...

फिर विवादों में एलन मस्क , इंसानी दिमाग में चिप लगाने वाली कंपनी के खिलाफ जांच शुरू

वॉशिंगटन।  ट्विटर के मालिक और अरबपति कारोबारी एलन मस्क मुसीबत में फंसते नजर आ रहे हैं। इंसानी दिमाग में चिप लगाने का दावा करने...

प्री-डायबिटीज से बचाव के लिए अपनाएं ये 5 तरीके

प्री-डायबिटीज का मतलब है कि आपके रक्त शर्करा का स्तर सामान्य से अधिक हो रहा है, जिसे समय रहते नियंत्रित करना महत्वपूर्ण है। अगर...

कांतारा में गाने वराह रूपम की हुई वापसी, बैन हटने के बाद दर्शकों ने जताई खुशी

ऋषभ शेट्टी की फिल्म कांतारा सिनेमाघरों में धमाल मचाने के बाद कुछ समय पहले ही ओटीटी पर रिलीज हुई है। हालांकि, दर्शक फिल्म में...

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के प्रस्तावित भ्रमण कार्यक्रम को लेकर दून पुलिस ने की सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था

देहरादून।  राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के आठ और नौ दिसंबर को प्रस्तावित भ्रमण कार्यक्रम के लिए दून पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की है। राष्ट्रपति...