Friday, December 2, 2022
Home उत्तराखंड उत्तराखंड मौसम: 24 घंटे में देहरादून समेत कई जिलों में भारी से...

उत्तराखंड मौसम: 24 घंटे में देहरादून समेत कई जिलों में भारी से भारी बारिश की संभावना

उत्तराखंड में मौसम का मिजाज बदल रहा है। राजधानी देहरादून समेत प्रदेश के कई इलाकों में शुक्रवार देर रात से हो रही बारिश शनिवार सुबह थमी। वहीं, कुमाऊं के सभी जिलों में बादल छाए हुए हैं। उधर, गढ़वाल में भी बारिश के बाद मौसम सुहावना बना हुआ है।

वहीं, मौसम विज्ञानियों के मुताबिक शनिवार को भी अधिकतम तापमान 34 डिग्री के आसपास रह सकता है। वहीं, अगले 24 घंटे में देहरादून, नैनीताल, अल्मोड़ा, चंपावत जैसे जिलों में कहीं-कहीं भारी से भारी बारिश की संभावना है।

राजधानी दून व आसपास के इलाकों में शुक्रवार को अधिकतम तापमान 34.6 डिग्री पहुंचने से लोगों को जबरदस्त गर्मी का सामना करना पड़ा। मौसम विभाग के मुताबिक अधिकतम तापमान में सामान्य से चार डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

चटक धूप से दिन की शुरुआत हुई, हालांकि कुछ देर बादल भी छाए, लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही बादल छट गए और लोगों को जबरदस्त गर्मी का सामना करना पड़ा। पिछले दिनों झमाझम बारिश होने से तापमान 30 डिग्री के नीचे चला गया था।

बारिश होने पर घर छोड़ देते हैं ग्रामीण
चमोली में अलकनंदा और गदेरे के कटाव से देवलीबगड़ और सोनला गांव को खतरा बना हुआ है। स्थिति यह है कि भारी बारिश होने पर ग्रामीण घरों को छोड़ने के लिए मजबूर हैं। प्रभावित ग्रामीणों का कहना है कि कई बार जिलाधिकारी से अलकनंदा व गदेरे की ओर से बाढ़ सुरक्षा कार्य करने की मांग की गई, लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

बदरीनाथ हाईवे पर स्थित सोनला गांव में एससी-एसटी के लगभग 50 परिवार रहते हैं। पिछले कुछ समय से मकानों के ऊपर से भूस्खलन हो रहा है। मंगरोली गांव के पूर्व प्रधान तेजवीर कंडेरी, सुमन सजवाण, अनसूया सजवाण, थान सिंह, करण सिंह और पार्वती देवी का कहना है कि गांव की अलकनंदा नदी से सुरक्षा के लिए कई बार सिंचाई विभाग और प्रशासन से गुहार लगाने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

वहीं, देवलीबगड़ गांव को भी अलकनंदा और गांव के समीप ही बह रहे गदेरे से खतरा बना हुआ है। ग्रामीण मोहन सिंह राणा और देव सिंह का कहना है कि हर साल भूस्खलन से गांव में कृषि भूमि व भवनों को नुकसान पहुंचता है। कहा कि एससी-एसटी वाले गांवों के लिए स्पेशल कंपोनेंट प्लान से बाढ़ सुरक्षा व अन्य कार्यों के लिए अलग से बजट आवंटित किया जाता है, लेकिन अधिकारियों की उदासीनता के चलते प्रतिवर्ष यह बजट सिंचाई विभाग व जिला समाज कल्याण विभाग की ओर से लौटा (सरेंडर) दिया जाता है। ग्रामीणों ने एससीपी (स्पेशल कंपोनेंट प्लान) के तहत बाढ़ सुरक्षा कार्य करने की मांग उठाई।

Source Link

RELATED ARTICLES

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने कनिष्ठ सहायक परीक्षा-2022 के अंतर्गत कुल 445 रिक्त पदों पर निकाली भर्ती

हरिद्वार। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने कनिष्ठ सहायक पदों के लिए भर्ती के लिए आवेदन मांगे हैं। आयोग ने विज्ञप्ति जारी करते हुए कनिष्ठ सहायक...

कोहरे को देखते हुए और यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर रेलवे ने दो ट्रेनों को किया रद्द

देहरादून। कोहरे को देखते हुए और यात्रियों की सुरक्षा को लेकर रेलवे ने दो ट्रेन रद्द करने का निर्णय लिया है। हालांकि, ट्रेंने रद्द होने...

पद्मश्री सम्मानित अंतराष्ट्रीय पर्वतारोही एवरेस्ट विजेता बछेंद्री पाल ने की बेडू उत्पादों और प्रयासों की सराहना

देहरादून। उत्तराखंड के पौड़ी जिले की यमकेश्वर विधानसभा क्षेत्र के बिजनी छोटी में हर्बल उत्पादों का निर्माण कर रहे बेडू ग्रुप ने पद्मश्री से...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

स्कॉलर्स स्पोर्ट्स मीट : तीसरे दिन हुए फाइनल मुकाबले, खिलाड़ियों ने जीते पदक

कोटद्वार (राष्ट्रमीडिया डेस्क)। कोटद्वार स्टेडियम में चल रहे तीन दिवसीय ‘स्कॉलर्स एकेडमी एनुअल स्पोर्ट्स मीट’ के तीसरे दिन कई फाइनल मुकाबले खेले गए। विद्यार्थियों...

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने कनिष्ठ सहायक परीक्षा-2022 के अंतर्गत कुल 445 रिक्त पदों पर निकाली भर्ती

हरिद्वार। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने कनिष्ठ सहायक पदों के लिए भर्ती के लिए आवेदन मांगे हैं। आयोग ने विज्ञप्ति जारी करते हुए कनिष्ठ सहायक...

कोहरे को देखते हुए और यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर रेलवे ने दो ट्रेनों को किया रद्द

देहरादून। कोहरे को देखते हुए और यात्रियों की सुरक्षा को लेकर रेलवे ने दो ट्रेन रद्द करने का निर्णय लिया है। हालांकि, ट्रेंने रद्द होने...

पद्मश्री सम्मानित अंतराष्ट्रीय पर्वतारोही एवरेस्ट विजेता बछेंद्री पाल ने की बेडू उत्पादों और प्रयासों की सराहना

देहरादून। उत्तराखंड के पौड़ी जिले की यमकेश्वर विधानसभा क्षेत्र के बिजनी छोटी में हर्बल उत्पादों का निर्माण कर रहे बेडू ग्रुप ने पद्मश्री से...

ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण के भराड़ीसैंण स्थित विधानसभा भवन में आयोजित होगा विधानसभा का अगला सत्र

देहरादून। विधानसभा का अगला सत्र ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण के भराड़ीसैंण स्थित विधानसभा भवन में आयोजित होगा।बुधवार को सरकार की ओर से संसदीय कार्य मंत्री प्रेमचंद...

श्रद्धा हत्याकांड- आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट आज डॉ. भीमराव अंबेडकर अस्पताल में हुआ शुरू

दिल्ली- एनसीआर।  श्रद्धा हत्याकांड में आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट रोहिणी स्थित डॉ. भीमराव अंबेडकर अस्पताल में शुरू हो गया है। कड़ी सुरक्षा में पुलिस...

बीपीसीएल ने सड़क बनाने के लिए 250 टन अपशिष्ट प्लास्टिक को किया रीसाइकल

मुंबई। सरकारी क्षेत्र की ‘महारत्न’ तेल विपणन कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) ने कहा कि उसने 250 टन प्लास्टिक के कचरे का पुनर्चक्रण...

क्या आपने कभी खाई है जंगली इमली? जानिए इससे मिलने वाले फायदे

जंगली इमली एक ऐसा फल है, जिसका सेवन स्वास्थ्य को कई तरह के लाभ दे सकता है। इसे विलायती इमली और मनीला इमली भी...

आज से भारत को मिल रही जी-20 की मेजबानी, देश के 100 स्मारकों को किया जाएगा रोशन

उत्तर प्रदेश। जी-20 की मेजबानी आज से भारत को मिल रही है। इस मौके पर देश के 100 स्मारकों को रोशन किया जाएगा। इनमें से...

बिग बॉस के घर फिर पहुंचीं राखी सावंत, ली वाइल्ड कार्ड एंट्री

अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाली ड्रामा क्वीन राखी सावंत फिर चर्चा में हैं और इस बार उन्हें सुर्खियों में लेकर...