Home उत्तराखंड पंचायतीराज विभाग के लिए खुशखबरी- पंचायतों के ऑनलाइन कार्यों के लिए आउटसोर्सिंग के माध्यम से 500 कर्मिको का हुआ चयन

पंचायतीराज विभाग के लिए खुशखबरी- पंचायतों के ऑनलाइन कार्यों के लिए आउटसोर्सिंग के माध्यम से 500 कर्मिको का हुआ चयन

0
पंचायतो के ऑनलाइन कार्यो को एक नई ऊर्जा मिलेगी

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सरकार में पंचायतीराज विभाग के लिए आई खुशखबरी। उत्तराखंड पंचायतीराज विभाग ने 500 कर्मिको को पंचायतो के ऑनलाइन कार्यो हेतु आउटसोर्सिंग के माध्यम से चयन किया है | पंचायतीराज विभाग ने  राज्य स्तर पर स्टेट प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट,जनपद स्तर पर डिस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट एवं विकासखड़  स्तर पर ब्लॉक प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट का गठन किया हैं। पंचायतीराज विभाग में स्टेट प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट के अंतर्गत राज्य स्तर पर स्टेट प्रोजेक्ट मैनेजर,टेक्निकल कंसलटेंट,स्टेट प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर एवं डेटा एनालिस्ट का चयन किया गया हैं। साथ ही डिस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट के अंतर्गत जनपद स्तर पर डिस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट मैनेजर एवं डेटा एंट्री ओपेरटर का चयन किया गया हैं एवं विकासखड़ स्तर पर ब्लॉक प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट के अंतर्गत जूनियर इंजीनियर, ब्लॉक कोऑर्डिनेटर, डेटा एंट्री ऑपरेटरो का चयन किया गया हैं।

बेरोजगारों के सपने पूरे करने के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी प्रतिबद्ध हैं। रोजगार सृजन की दिशा में धामी सरकार की ओर से निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में गत दिनों धामी सरकार ने  पंचायतीराज विभाग में  500 कार्मिको को पंचायतो के ऑनलाइन कार्यो हेतु आउटसोर्सिंग से चयन किया है। इन कार्मिको से पंचायतो के ऑनलाइन कार्यो को एक नई ऊर्जा प्रदान होगी। दरअसल, राज्य के पर्वतीय जिलों में  स्टाफ की भी निरंतर कमी बनी हुई थी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी सफल अभ्यर्थियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पंचायतीराज सेवाओं में आने से पंचायतों में स्टाफ की कमी दूर होने के साथ ही आमजन को भी काफी राहत मिलेगी। पंचायतीराज मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि विभाग की ओर से तमाम रिक्त पदों पर भर्ती के निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने सभी सफल अभ्यर्थियों को अपनी शुभकामनाएं प्रदान की हैं। पंचायतीराज सचिव श्री नितेश झा के मुताबिक पंचायतीराज  विभाग  के रिक्त पदों पर आउटसोर्सिंग से नई भर्ती से पर्वतीय क्षेत्रों में पंचायतों के डिजिटलीकरण में निश्चित रूप से  मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here