Home राष्ट्रीय सबसे बड़े स्नान पर्व मौनी अमावस्या पर 17 घाटों पर लगेगी पुण्य की डुबकी, अधिक भीड़ आने के अनुमान को लेकर बढ़ाए जाएंगे दो और घाट

सबसे बड़े स्नान पर्व मौनी अमावस्या पर 17 घाटों पर लगेगी पुण्य की डुबकी, अधिक भीड़ आने के अनुमान को लेकर बढ़ाए जाएंगे दो और घाट

0

उत्तर प्रदेश। सबसे बड़े स्नान पर्व मौनी अमावस्या पर 21 जनवरी को 17 घाटों पर पुण्य की मौन डुबकी लगेगी। इस स्नान पर्व पर अधिक भीड़ आने के अनुमान को लेकर दो घाट बढ़ाए जाएंगे। मंगलवार को मौनी अमावस्या स्नान पर्व की तैयारियों पर मंथन के बाद मेला प्रशासन ने यह निर्णय लिया। इससे पहले मकर संक्रांति पर 15 घाटों पर स्नान की व्यवस्था की गई थी।स्नान पर्व की तैयारियों के बीच चकर्ड प्लेटें बदलने, पथ प्रकाश, पेयजल और सफाई व्यवस्था को दुरुस्त रखने के निर्देश दिए गए। मौनी अमावस्या पर इस बार अपार जन सैलाब उमड़ने का अनुमान है। इसे देखते हुए अभी से तैयारियां तेज कर दी गई हैं।

खास तौर से मेले की बसावट के बीच मूलभूत सुविधाओं की नए सिरे से समीक्षा की जा रही है। मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र के अपर मुख्य सचिव अमृत अभिजात ने भी मौनी अमावस्या स्नान पर्व की तैयारियों की जानकारी ली है। साथ ही अफसरों के साथ समन्वय बनाकर सुरक्षा और भीड़ प्रबंधन के साथ सुविधाओं का ख्याल रखने का निर्देश दिया है।मेलाधिकारी अरविंद कुमार चौहान ने विभागवार अधिकारियों की बैठक ली।

इस दौरान आठ सौ फीट घाटों की लंबाई बढ़ाने का निर्णय लिया गया। सिंचाई विभाग बाढ़ प्रखंड के अभियंताओं को स्नान घाटों को दुरुस्त कराने के साथ ही दो नए घाट बनाने के निर्देश दिए गए। सेक्टरवाइज जगह मिलने पर कुछ घाटों की लंबाई बढ़ाई भी जा सकती है। मेलाधिकारी ने बताया कि चकर्ड प्लेट मार्गों की मरम्मत कराने के साथ ही पथ प्रकाश और सफाई व्यवस्था को नए सिरे से देखने के लिए कहा गया है। मौनी अमावस्या स्नान पर्व पर भीड़ के अनुमान के आधार पर पुलिस ने मंगलवार को ओम नम: शिवाय अन्नक्षेत्र को 20 और 21 जनवरी को दो दिन बंद रखने का निर्देश दिया है। इस संस्था के शिविरों में प्रतिदिन हजारों की संख्या में संत और भक्त प्रसाद ग्रहण करते हैं।

मौनी अमावस्या के मद्देनजर शहर में भारी कॉमर्शियल वाहनों की इंट्री पर 19 से 23 जनवरी तक रोक रहेगी। यह प्रतिबंध बुधवार रात से ही लागू हो जाएगा। जो 23 जनवरी की रात 12 बजे तक रहेगा। जनपद सीमा के भीतर नो इंट्री प्वाइंटों से भारी कॉमर्शियल वाहनों को शहर क्षेत्र की ओर प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। नो इंट्री पास वाले वाहनों पर भी लागू रहेगी। इन्हें पुलिस चौकी बम्हरौली, टीपी नगर तिराहा, सहसों चौराहा, फाफामऊ थाना,नवाबगंज बाईपास, हबूसा मोड़, 40 नंबर गुमटी, रामपुर चौराहा, घूरपुर थाना गेट, सोरांव बाई पास नो इंट्री प्वाइंट से डायवर्ट किया जाएगा।

मौनी अमावस्या के लिए शहर से चलने वाली प्राइवेट बसों के संचालन की भी नई व्यवस्था 20 व 21 जनवरी को लागू होगी। इसके तहत मिर्जापुर व रीवा मार्ग पर चलने वाली प्राइवेट बसों का संचालन नवप्रयागम/अरैल मोड़ तिराहे के पास से होगा। जौनपुर वाराणसी मार्ग पर चलने वाली प्राइवेट बसों का संचालन ओल्ड जीटी मार्ग पर स्थित होमगार्ड ट्रेनिंग सेंटर तिराहे से होगा। अंदावा चौराहा से प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।कानपुर मार्ग की प्राइवेट बसों का संचालन शेरवानी मोड़ के समीप नेहरू पार्क से होगा। शेरवानी मोड़ से शहर की तरफ प्रवेश पर रोक रहेगी। लखनऊ व प्रतापगढ़ मार्ग की प्राइवेट बसें फाफामऊ पानी टंकी तिराहे से चलेंगी। फाफामऊ पानी टंकी तिराहा से शहर की तरफ उनके आने पर रोक रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here